‘पहाड़ों से निकली पहाड़ों की कहानियाँ’

सुप्रसिद्ध साहित्यकार भगवत प्रसाद पाण्डेय का पहला बाल कहानी संग्रह ‘पहाड़ों से निकली पहाड़ों की कहानियाँ’ सुप्रसिद्ध साहित्यकार भगवत प्रसाद पाण्डेय का पहला बाल कहानियों का संग्रह है। इसका अर्थ…

किताबें करती हैं बातें

उत्तराखण्ड बोर्ड ने गत वर्ष से भाषाई विषयों में 20 अंक आंतरिक मूल्यांकन के लिए निर्धारित कर दिए हैं। सुनना, बोलना, पढ़ना और लिखना कौशलों की जांच भी है। पिछली…

पाठक की राय

रा इं०कॉ० खरसाड़ा-पालकोट, टिहरी गढ़वाल में पुस्तकालय शिक्षक साथी मोहन चौहान सँभालते हैं ! उन्होंने एक गतिविधि आयोजित की हुई है। पाठक किताबें ले जाते हैं । पढ़ते हैं और…

पहली यात्रा

छह से आठ साल के बच्चों के लिए राष्ट्रीय पुस्तक न्यास, भारत जिसे पाठक नेशनल बुक ट्रस्ट के नाम से भी जानते हैं। इस एन॰बी॰टी॰ ने साल 2023 में विपुल…

बाल साहित्य: वयवर्ग को रंगीन चित्रात्मक किताबें देनी ही होंगी

संजीव जायसवाल ‘संजय’ का बाल कहानियों का संग्रह ‘नटखट कहानियाँ’ वरिष्ठ साहित्यकार संजीव जायसवाल ‘संजय’ कहानी, उपन्यास और व्यंग्य विधा में समान अधिकार रखते हैं। वह दशकों से बाल साहित्य…

‘छोटे मणि की उलझन बड़ी’ लीक से हटकर बनी किताब

पाठक एक नई, अनोखी दुनिया में चला जाता है। ‘छोटे मणि की उलझन बड़ी’ किताब लीक से हटकर बनी किताब है। इक्कीसवीं सदी के भविष्य की किताब है। आने वाला…